राजस्थान के 12 जिलों में चक्रवाती तूफान बिपरजॉय का असर इन शहरों में बदलेगा मौसम का मिजाज

Rate this post

अरब सागर में उठे चक्रवाती तूफान बिपरजॉय का असर राजस्थान में भी अब दिखने लग गया है मौसम विभाग के मुताबिक राजस्थान के 12 जिलों में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है आपको बता देना चाहते हैं इस चक्रवाती तूफान से पूरे राजस्थान में बारिश की चेतावनी है लेकिन राजस्थान के कुछ ऐसे जिले हैं जिनमें इस चक्रवाती तूफान से भारी से अति भारी बारिश की चेतावनी दी गई है हम आपको बताएंगे कि राजस्थान के कौन-कौन से वह जिले हैं जहां मौसम विभाग ने भारी से अति भारी बारिश से के साथ तेज हवा चलने की चेतावनी जारी की गई है

गुजरात से लगे राजस्थान के पश्चिमी जिलों में तेज हवाओं के साथ अति भारी बारिश की चेतावनी

बिपरजॉय का कहर इतना बढ़ता जा रहा है कि पश्चिमी राजस्थान के जालौर बाड़मेर जोधपुर जिले में साथ ही जैसलमेर मैं इस चक्रवाती तूफान से भारी से अति भारी बारिश की चेतावनी दी है साथ ही तेज हवा चलने की भी मौसम विभाग ने चेतावनी दी है इन जिलों में 70 से 80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवा वही भारी बारिश की चेतावनी दी है आपको बता देना चाहते हैं यह चेतावनी मौसम विभाग जयपुर है केंद्र से जारी की गई है और चेतावनी 15 जून से 17 जून तक दी गई है इन दिनों राजस्थान के सभी जिलों में बारिश की चेतावनी है वहीं पश्चिमी राजस्थान जो गुजरात से लगे हुए हैं उन जिलों में भारी से अति भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है।

चक्रवाती तूफान बिपरजॉय आज गुजरात के तट से टकराने की है संभावना

अरब सागर से उठे चक्रवाती तूफान विप्र जॉय जो अब गुजरात के कच्छ क्षेत्र में आज 15 जून को शाम को टकराने की संभावना है इस चक्रवाती तूफान से गुजरात के तटीय इलाके वही साथी साथ कच्छ भुज में भारी से अति भारी बारिश की चेतावनी दी गई है निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को घरों से खाली करवाया गया है साथ ही वहां चेतावनी दी है कि आप घरों में सुरक्षित रहें 2 से 3 दिन तक इस चक्रवाती तूफान का असर गुजरात और राजस्थान में देखने को मिलेगा।

चक्रवाती तूफान विप्रजॉय किस दिशा में जाने की संभावना है

चक्रवाती तूफान बिपरजॉय गुजरात के कच्छ भुज से राजस्थान के जालौर सांचौर बाड़मेर जैसलमेर जोधपुर की तरफ जाने की संभावना बताई गई है साथ ही साथ राजस्थान से सटे पाकिस्तान के कराची की तरफ भी इस चक्रवाती तूफान का असर बहुत ज्यादा देखने को मिलेगा सरकार ने तूफान से निपटने के पूरे इंतजाम कर दिए हैं साथ ही यहां एनडीआरएफ की टीमों को भी गठित किया है ताकि किसी भी आपात स्थिति में इस तूफान से निपटा जा सके लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेज दिया गया है साथ ही यह भी हिदायत दी गई है कि आप तूफान के वक्त समुंदर में ना जाएं और तटीय इलाकों में किसी भी प्रकार की जाने की जरूरत है को रोका गया है ताकि लोगों को सुरक्षित बचाया जा सके।

बिपरजॉय का असर कितने दिन तक रहेगा

चक्रवाती तूफान बिपरजॉय के असर की बात करें तो चक्रवाती तूफान भी पर जॉय का असर 3 से 4 दिन तक रहने की संभावना है हालांकि जैसे-जैसे चक्रवाती तूफान तटीय इलाकों से मैदानी इलाकों और रेगिस्तानी इलाकों में प्रवेश करेगा तो उसकी गति कम होती जाएगी और उसका असर भी कम होता जाएगा वही बात करें समुद्री इलाकों में इसकी चक्रवाती तूफान की गति है वह 135 से 150 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवा की रफ्तार है वही तूफान 8 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आगे बढ़ रहा है चक्रवाती तूफान से समुंदर में किसी भी प्रकार की जनहानि की संभावना नहीं है लेकिन जैसे ही यह तूफान तटीय इलाकों में और साथ ही साथ मैदानी इलाकों में या पश्चिमी राजस्थान के इलाकों में प्रवेश करेगा वहां जान माल की हानि होने की काफी संभावना है सरकार ने इससे बचने के हर संभव प्रयास कर रखे हैं।

चक्रवाती तूफान पर जो गुरुवार शाम तक गुजरात के देखो फोर्ट से टकराने की आशंका है माना जा रहा है कि इस समय हवाओं की रफ्तार 135 किलोमीटर प्रति घंटे से 150 किलोमीटर प्रति घंटे तक होने की संभावना है वहीं जमीन पर पहुंचते यह रफ्तार और बढ़ जाएगी जो 150 किलोमीटर से 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार तक चल सकती है राजस्थान में मैं भी इसका खासा प्रभाव देखने को मिलने वाला है राजस्थान के सबसे पहले प्रवेश की बात करें तो यह सांचौर जालौर इलाके में प्रवेश करने की संभावना है उसके साथ-साथ बाड़मेर में भी यह तूफान प्रवेश कर जाएगा।

मौसम विभाग के अनुसार राजस्थान के 12 जिलों में साइक्लोन का असर पड़ सकता है इनमें बाड़मेर जालौर जोधपुर जैसलमेर डूंगरपुर बांसवाड़ा उदयपुर भीलवाड़ा टोंक चित्तौड़ प्रतापगढ़ इसके साथ-साथ पाली नागौर बीकानेर में भी इस तूफान का असर देखा जा सकता है।

मौसम विभाग जयपुर की बात करें तो तेज रफ्तार हवाएं और बारिश का अनुमान मौसम विभाग द्वारा जारी किया गया है अलर्ट के मुताबिक राजस्थान के इन जिलों में हवाओं की अधिकतम गति है वह 60 किलोमीटर प्रति घंटा हो सकती है यह अनुमान गुरुवार 15 जून और शुक्रवार 16 जून के लिए लगाया जा रहा है इतना ही नहीं गुरुवार और शुक्रवार को बाड़मेर जालौर जैसलमेर उदयपुर बांसवाड़ा चित्तौड़ डूंगरपुर जोधपुर जैसलमेर में ज्यादा से बहुत ज्यादा यानी भारी से अति भारी बारिश है होने की आशंका है इसके अलावा शनिवार को अजमेर संभाग भीलवाड़ा और टोंक में भी बारिश की संभावना बताई गई है।

जानकारी के लिए बता देना चाहते हैं कि दक्षिणी पश्चिमी राजस्थान और दक्षिणी पूर्वी राजस्थान में बहुत तेज बारिश का अलर्ट जारी किया गया है इसके अलावा उत्तर भारत के राज्य हिमाचल प्रदेश उत्तराखंड के इलाकों पंजाब हरियाणा में भी हल्की से मध्यम बारिश है के साथ ओले गिरने की संभावना बताई गई है यह जानकारी मौसम विभाग द्वारा जारी की गई है साथ ही तूफान के तटीय इलाकों से बाहर आने के बाद उसकी गति और ज्यादा बढ़ने की संभावना भी बताई गई है लेकिन इसकी गति कितनी दूरी तक बढ़ेगी और उसके बाद कम होगी यह अनुमान अब तक नहीं लगाया गया है।

राजस्थान के बीकानेर सिरोही पाली में भी 16 जून की रात और 17 जून की सुबह में भारी बारिश हो सकती है वहां भी अलर्ट जारी किया गया है हालांकि इन क्षेत्रों में तेज हवा चलने की बात सामने नहीं आ रही है इसके साथ ही प्रदेश में इस तूफान का असर नहीं दिखेगा इस तूफान का असर 17 जून को ज्यादा दिख सकता है जोधपुर बीकानेर उदयपुर अजमेर भीलवाड़ा पाली जालौर बाड़मेर में भारी से अति भारी बारिश की संभावना है दक्षिणी राजस्थान में बारिश के दौरान 50 से 60 किलोमीटर की रफ्तार से तेज हवा चल सकती है।

राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने देर रात चक्रवाती तूफान बिपरजॉय से सुरक्षा की तैयारियों को लेकर रात में मुख्यमंत्री ने संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक ली इस दौरान बचाव और राहत कार्य के लिए आवश्यक निर्देश दिए गए हैं इस बैठक में कृषि मंत्री भी शामिल थे साथ ही इस चक्रवाती तूफान से हरसंभव निपटने के प्रयास मुख्यमंत्री जी श्री अशोक गहलोत ने करने के निर्देश दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Discover more from Online News

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading