मणिपुर हिंसा का ओरिजनल वीडियो हुआ वायरल देख कांप जाएगी रूह !

Rate this post

मणिपुर हिंसा को लेकर के बहुत ही सर्मसार वीडियो सोशियल मिडिया में वायरल हो रहे है ,इसको लेकर के मणिपुर हिंसा का ओरिजनल वीडियो भी वायरल हो चूका है . इसको लेकर के आज पुरा देश शर्मसार है pm ने कहा की बखसे नहीं जायेगे दोषीयों को जल्द से जल्द की याएगी करवाई . पुलिस की गिरफ में है एक गुनेगार जिससे अभी पुलिस कई राज उगलवा रही है.

मणिपुर में हिंसा के बीच 2 महिलाओं को नग्न करके दौड़ाया गया। यह मामला करीब 2 महीने पुराना इसमें अब तक कोई कार्यवाही नहीं हुई थी। इस घटना का वीडियो बुधवार को वायरल होने के बाद इस पर हंगामा शुरू हुआ. और अब जाकर के चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

मणिपुर के इस मामले को लेकर इंसानियत पर सवाल खड़ा कर देने वाले वीडियो की चर्चा जोरों पर चल रही है। या कुछ लोग इतने वैश्वी हो गए कि उन्होंने दो लड़कियों को नहीं वस्त्र किया और उन्हें बिना कपड़ों के घुमाया और फिर कथित तौर पर उनके साथ रेप किया गया

उन दोनों महिलाओं का कहना है कि हम उस वक्त पुलिस की गाड़ी में थे, हमें लगा वह हमें बचा लेंगे। जब तक लड़कों की भीड़ ने गाड़ी को चारों तरफ से घेर लिया था। और हमें नीचे उतार कर इधर-उधर छूने लगे. उन्होंने हमें धमकी देते हुए यह भी कहा कि अगर जिंदा रहना है तो कपड़े उतारो, तब हमने मदद के लिए पुलिस वालों की तरफ देखा तो उन्होंने भी मुंह फेर लिया था। फिर हमने कपड़े उतार दिए, फोन में दो लड़कियां थी जिसमें एक ही उम्र 21 साल थी वह पीड़िता यह सारी चीज बता रही है, लेकिन उनकी साथी वह अभी भी ट्रामा में है फोन पर नहीं आती लेकिन उसकी साथी पूरी कहानी बताती है।

यह उस लड़की की कहानी है जिसे आपने 19 जुलाई को मणिपुर से वायरल हुए वीडियो में देखा होगा उस वीडियो में एक महिला और थी जिसकी उम्र 42 साल है। उसके भी कपड़े उतरवाए गए थे, वह बताती है उन्होंने कहा अगर कपड़े नहीं उतारोगी तो मारेंगे. खुद को बचाने के लिए मैंने मेरे कपड़े उतार दिए, वह मुझे पीटने लगे, मेरे शरीर को छूते रहें, मेरे साथ रेप नहीं हुआ था। मेरे साथ मेरी 21 साल की पड़ोसी थी उसके भी कपड़े उतरवा दिए थे नहीं पता चला कि उसके साथ क्या हुआ।

और उन्हीं के साथ 52 साल की एक और महिला थी। वह वीडियो में नहीं है, लेकिन कपड़े उनके भी उतरवाए गए। 3 मई को मणिपुर में हिंसा भड़की और यह वीडियो 4 मई का है। वायरल हुए वीडियो किसान बीन के दौरान मीडिया रिपोर्टों के रिपोर्ट के अनुसार पीड़ित महिलाओं के अलावा उस पुलिस वालों से भी बात की, जिसने 18 मई को सबसे पहले इस मामले में कंप्लेंट दर्ज की थी।

बचाने आया भाई को भीड़ ने पीट-पीटकर मार डाला

जब इस घटना की जानकारी लगी तो बचाने के लिए उनका भाई आया तो उसको वहां पर इकट्ठा भीड़ ने उसको पीट-पीटकर के मार डाला। साइकुल पुलिस स्टेशन में तैनात SHO लुंगथांग वो शख्स हैं, जिन्होंने इस मामले में पहली शिकायत दर्ज की थी। वह यह बताते हैं कि 18 मई को बी फाइनोम गांव के मुख्य कांगपोकपी के साइकुल पुलिस स्टेशन आए थे। और उनके साथ एक पीड़िता भी थी। मैंने पूरी घटना सुनी और जीरो एफ आई आर दर्ज की।

पुर में लगभग 3 महीने से हिंसा चल रही है और अभी इस बात का मुद्दा बन चुका है। अब दो कुकी-जो महिलाओं का वीडियो सामने आया है जिन्हें बिना कपड़ों के रास्तों पर चलाया गया और उनके प्राइवेट पार्ट्स को बार-बार छुआ गया। और कुछ रिपोर्टर्स यह भी बता रही हैं कि उसके साथ गैंग रेप हुआ । रिपोर्ट के मुताबिक एक महिला की उम्र 40 वर्ष बताई जा रही है और दूसरी की उम्र 21 साल की थी। हालांकि रिपोर्टों के मुताबिक वीडियो में सिर्फ दो महिलाओं को दिखाया गया है लेकिन असल में दंगाइयों की भीड़ ने 3 महिलाओं को अपना शिकार बनाया था। महिलाएं एक दूसरे की रिश्तेदार थी और पड़ोस में रहती थी।

कितना पुराना है मणिपुर हिंसा का वीडियो

मणिपुर हिंसा का ओरिजनल वीडियो

यह वीडियो 4 मई 2023 का है जिसे अब सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है और यह शर्म की बात है कि लोग इस वीडियो को इतना सर्कुलेट कर रहे हैं, विडियो इतना विभत्स्य है कि ना तो हम उस वीडियो को आप को दिखा सकते हैं और रही उससे जुड़ी कोई मुख्य तस्वीर दिखा सकते हैं। हम आप लोगों से यह उम्मीद करते हैं कि ईश्वर मीडिया पर इस तरह का वीडियो वायरल ना करें इससे जुड़ी कोई भी तस्वीर शेयर ना करें इससे हम लोग महिलाओं के साथ और अत्याचार होना रोक सकते हैं।

चौंकाने वाली बात तो यह है कि इस मामले में मई में ही जीरो एफ आई आर दर्ज करवाई जा चुकी थी फिर भी इस से लेकर अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई और अब वीडियो वायरल होने के बाद हड़कंप मच गया है।

मणिपुर हिंसा वायरल वीडियो में आखिर ऐसा क्या है?

मणिपुर हिंसा वायरल वीडियो में आखिर ऐसा क्या है इससे जुड़ी जानकारी हम आपको अभी बताएंगे की भीड़ में 3 महिलाओं के साथ कुकर्म किया, लेकिन वीडियो में दो ही दिखाया गया। वायरल वीडियो में महिलाओं के शरीर पर एक भी कपड़ा नहीं है, और पुरुषों को ने छुते हुए, थप्पड़ मारते हुए, उनके अंगों के साथ खिलवाड़ करते हुए, उन्हें टॉर्चर करते हुए देखा जा रहा है। यही कारण है कि इस वीडियो का वायरल होना इंसानियत को शर्मसार कर रहा है। कहते हैं भीड़ का कोई चेहरा नहीं होता लेकिन वीडियो में उन पुरुषों को भी दिखाया गया है जो यह हरकत कर रहे हैं।

मणिपुर हिंसा वीडियो वायरल से उठने वाले कुछ सवाल

मणिपुर हिंसा का ओरिजनल वीडियो

जिस तरह का जुर्म हुआ हुआ है उसकी जितनी निंदा की जाए वह कम है लेकिन क्या सिर्फ निंदा ही काफी नहीं है?

जब f.i.r. इतने समय पहले से हो गई थी तो अभी तक कोई भी गिरफ्तारी क्यों नहीं हुई थी?

महिलाओं के साथ ऐसा करने वाले लोगों को रोकने की कोशिश क्यों नहीं की गई ?

वीडियो में घटना को अंजाम देने वालों के चेहरे भी दिख रहे हैं तो क्या उन्हें किसी चीज का डर नहीं था?

इससे जुड़ी अधिक जानकारी देखने हेतु 👉: यहां से पढ़े

यह सारी रिपोर्ट हमने इंटरनेट के माध्यम से प्राप्त की जानकारी के अनुसार हमने आप तक बताया है इससे हमारा ऐसा कोई उद्देश्य नहीं है जिससे किसी को व्यक्ति विशेष को ठेस पहुंचे और इससे जुड़ी जानकारी हमारी टीम ने केवल इंटरनेट से प्राप्त की जानकारी के अनुसार आपको बताया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Discover more from Online News

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading