तमिलनाडु के स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा योजनाऍं 2024

5/5 - (1 vote)

तमिलनाडु के स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा योजनाऍं 2024, प्रयोक्‍ता दोपहर के भोजन की आपूर्ति, निशुल्‍क बस पास, निशुल्‍क पाठ्य पुस्‍तकों आदि से संबंधित जानकारी प्राप्‍त कर सकते हैं । प्राथमिक व माध्‍यमिक के छात्रों के लिए विभिन्‍न छात्र कल्‍याण योजनाओं के विवरण भी प्रदान किये गये हैं।

स्कूली छात्रों के लिए तमिलनाडु मुफ्त जूते योजना

मुख्यमंत्री ने पहले ही सरकार/सरकार को मुफ्त जूते उपलब्ध कराने के आदेश जारी कर दिए हैं। सहायता प्राप्त स्कूल के छात्र। सरकारी/सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों में पढ़ने वाले कक्षा ६वीं, ७वीं, ८वीं, ९वीं, १०वीं के सभी छात्रों को टीएन फ्री शूज़ योजना में मुफ्त जूते मिलेंगे। तमिलनाडु फ्री स्कूल शूज योजना से लगभग 28.65 लाख छात्र लाभान्वित होंगे।

वर्तमान में, तमिलनाडु की राज्य सरकार कक्षा I से X में पढ़ने वाले लगभग 58 लाख छात्रों को मुफ्त चप्पल प्रदान कर रही है। अब कक्षा 1 से 5 वीं कक्षा के छात्रों को चप्पल मिलेगी जबकि 6 वीं से 10 वीं कक्षा के छात्रों को तमिलनाडु मुफ्त जूते योजना के तहत स्कूल के जूते मिलेंगे। स्कूल शिक्षा विभाग ने तमिलनाडु सरकार को चप्पल की जगह जूते उपलब्ध कराने का प्रस्ताव भेजा है। सरकार की ओर से जारी आदेश से ही लागत और अन्य खर्चों का ब्योरा पता चलेगा।

तमिलनाडु सरकार के स्कूल के छात्रों के लिए नई वर्दी

स्कूल शिक्षा विभाग ने तमिलनाडु के सरकारी स्कूलों में कक्षा एक से आठवीं तक के छात्रों के लिए नई यूनिफॉर्म पेश की है:-

पहली से पांचवीं कक्षा के लिए बदले हुए परिदृश्य के अनुसार, लड़कों को हल्के हरे रंग की चेक की हुई शर्ट के साथ गहरे हरे रंग की पतलून पहननी होगी। लड़कियों को गहरे हरे रंग की स्कर्ट और हल्के हरे रंग की शर्ट मिलेगी।

छठी से आठवीं कक्षा तक के लड़कों के पास चंदन रंग की पैंट और चेक शर्ट होगी, जबकि लड़कियों को ओवरकोट और चंदन रंग की पैंट के साथ चेक्ड सैंडल कमीज मिलेगी।

तमिलनाडु में 2011-12 से मुफ्त लैपटॉप योजना पहले से ही चल रही है, लेकिन राज्य सरकार खरीद में देरी के कारण पिछले साल बारहवीं कक्षा के छात्रों को उपकरण वितरित नहीं कर सकी।

तमिलनाडु के स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा योजनाऍ, प्रयोक्‍ता दोपहर के भोजन की आपूर्ति, निशुल्‍क बस पास, निशुल्‍क पाठ्य पुस्‍तकों आदि से संबंधित जानकारी प्राप्‍त कर सकते हैं । प्राथमिक व माध्‍यमिक के छात्रों के लिए विभिन्‍न छात्र कल्‍याण योजनाओं के विवरण भी प्रदान किये गये हैं।

सरकारी स्‍कूल में पढ़ने वाले बच्‍चों के लिए यूं तो कई राज्‍यों में अलग-अलग योजना है. म‍िड डे म‍िल योजना तो कई राज्‍यों में लागू है पर अब तम‍िलनाडु सरकार ने सरकारी स्‍कूल के बच्‍चों के लिए मुफ्त नाश्‍ता योजना का व‍िस्‍तार कर रही है. यह योजना क्‍या है और क‍ितने सरकारी स्‍कूल इस योजना के दायरे में आएंगे. इस योजना के क‍िस क्‍लास तक के क‍ितने बच्‍चों को फायदा होगा ड‍िटेल में जानें

 तमिलनाडु सरकार कक्षा 1 से 5 तक के सभी सरकारी स्कूलों में मुफ्त नाश्ता योजना का विस्तार कर रही है. आज यानी शुक्रवार से शुरू होने वाली इस योजना से राज्य के लगभग 31,000 सरकारी स्कूलों के लगभग 17 लाख छात्र लाभान्वित होंगे.

स्‍कूलों में मुफ्त नाश्‍ता योजना की इस पहल के लिए राज्‍य सरकार ने 404 करोड़ रुपये की राशि आवंटित की गई है.

बताया जा रहा है क‍ि इस योजना ने लगभग 1545 राज्य स्कूलों के 1.14 लाख से अधिक छात्रों को लाभ पहुंचाया था.

शुरुआत के अवसर पर मुख्यमंत्री द्वारा विधायकों और सांसदों को अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों में इस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया गया था.

शुरुआत के अवसर पर मुख्यमंत्री द्वारा विधायकों और सांसदों को अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों में इस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया गया था.

मुफ्त नाश्‍ता योजना के व‍िस्‍तार का उद्घाटन नागापट्टिनम जिले के थिरुक्कुबलायो के एक सरकारी स्कूल में हुआ, जो पूर्व मुख्यमंत्री और डीएमके संरक्षक एम करुणानिधि का जन्मस्थान है.

इस योजना का मकसद यह सुनिश्चित करना है क‍ि कोई छात्र खाली पेट स्कूल न जाएं.

राज्‍य सरकार का इस योजना को शुरू करने का सबसे बड़ा मकसद स्‍कूली बच्‍चों को पर्याप्त पोषण सुनिश्चित करना है और कुपोषण की घटनाओं में कमी लाना है.

सरकार इस योजना से छात्रों की स्कूल में उपस्थिति बढ़ाने और उसे बनाए रखने की दर में सुधार लाना चाहती है. इसके साथ कामकाजी माताओं को राहत प्रदान करना भी इस योजना का लक्ष्‍य है.

इस योजना के नाश्ते के मेनू में व‍िभ‍िन्‍न तरह के पौष्टिक आहार, जिसमें बाजरा, गेहूं और सब्जियों से बने व्यंजनों के साथ-साथ रवा उपमा, पोंगल, केसरी जैसी चीजें शामिल हैं.

सामाजिक कल्याण योजनाओं को बढ़ावा देने में तमिलनाडु राज्‍य का एक मजबूत ट्रैक रिकॉर्ड है. यह राज्‍य अपने यहां के स्कूलों में दोपहर के भोजन का कार्यक्रम लागू करने वाला पहला भारतीय राज्य था.

Tamil Nadu Free Shoes Scheme 2024

तमिलनाडु सरकार ने सरकारी/सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों में छठी से दसवीं तक के छात्रों के लिए एक नई मुफ्त जूते योजना शुरू करने का फैसला किया है। अब सरकारी स्कूलों में छठी से दसवीं कक्षा में पढ़ने वाले सभी छात्रों को चप्पल (चप्पल) के बजाय 2 जोड़ी जुराबें और जूते मिलेंगे। तमिलनाडु फ्री स्कूल शूज योजना स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा लागू की गई है।

तमिलनाडु सरकार पहले से ही सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों को 14 मुफ्त आइटम (लैपटॉप सहित) वितरित कर रही है। तमिलनाडु फ्री स्कूल शूज़ योजना का प्राथमिक ध्यान शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने और लोगों को अपने बच्चों को स्कूलों में भेजने के लिए प्रोत्साहित करने पर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Discover more from Online News

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading